नीम केक उर्वरक-(Neem Cake Fertilizer)

 In Women Empowerment

नीम केक उर्वरक- नीम के बीज से निकले हुए तेल का अवशेष है, जो नीम की गुठली को पीस कर तेल के बाद इस्तेमाल किया जाता है। इस बीज की गुठली में एनपीके (नाइट्रोजन-फॉस्फोरस-पोटेशियम) और साथ ही नॉर्ट्रिप्टेनोइड्स और आइसोप्रेनॉइड जैसे पोषक तत्व होते हैं। ये पोषक तत्व प्रकृति में नेमाटाइडल हैं, इसलिए बीज केक इन गुणों के साथ समाप्त हो जाता है। नीम केक का उपयोग कृषि, बागवानी, फूलों की खेती और टर्फ उद्योग में जैविक उर्वरक के रूप में और साथ ही एक प्राकृतिक कीटनाशक के रूप में किया जाता है। नीम केक को विभिन्न सूक्ष्म और स्थूल पोषक तत्वों की वजह से जैविक उर्वरक के रूप में उपयोग किया जाता है। यह नियंत्रित करेगा, एक ही समय में, मिट्टी आधारित रोगजनकों के साथ-साथ नेमाटोड को भी। यह मिट्टी के नाइट्रिफिकेशन को भी बाधित करता है, और उर्वरक प्रदान करने वाली नाइट्रोजन की दक्षता को भी बढ़ाता है।

नीम केक उर्वरक-(Neem Cake Fertilizer)

नीम केक उर्वरक एक उत्कृष्ट जैविक उर्वरक है। इसकी आवश्यक सामग्री और अन्य सूक्ष्म पोषक तत्व हैं: –

  • नाइट्रोजन
  • फॉस्फोरस
  • मैग्नीशियम
  • पोटैशियम
  • कैल्शियम
  • सल्फर
  • जिंक
  • कॉपर
  • आयरन
  • मैंगनीज

नीम केक उर्वरक के उपयोग: –

मिट्टी संशोधन के रूप में नीम केक का उपयोग करने के कई कारण हैं:-

1. यह जैव अपघटनीय है, और इसका उपयोग कई अन्य विभिन्न प्रकार के उर्वरकों के साथ किया जा सकता है।

2. यह आपके द्वारा उपयोग किए जाने वाले अन्य उर्वरकों की कार्यक्षमता को बढ़ाएगा क्योंकि यह नाइट्रीफिकेशन को रोक देता है।

3. इसके अलावा यह किसी भी भारी धातु से मुक्त है, इसलिए यह फसल उपयोग के लिए सुरक्षित है।

4. यह धीरे-धीरे मुक्त होता है जिसका मतलब है कि पोषक तत्व एक समान रूप में मुक्त होते है। यह बढ़ते मौसम के दौरान आपकी फसलों या पौधों की निरंतर वृद्धि सुनिश्चित करता है। क्योंकि यह पोषक तत्वों को धीरे-धीरे छोड़ेगा मतलब आपकी फसलों में बढ़ते समय में पोषक तत्व उपस्थित होंगे।

5. नीम केक पोषक तत्व संग्राहक होने के बजाय पौधों के लिए एक पोषक तत्व के रूप में कार्य करता है। नीम केक में एनपीके (नाइट्रोजन- फॉस्फोरस-पोटेशियम) और अन्य सूक्ष्म पोषक तत्व होते हैं, ताकि आपके पौधे लगातार खिलाया जाता है।

नीम केक उर्वरक के लाभ:-

  • दोनों उर्वरक के साथ-साथ कीटनाशक का दोहरा कार्य करता है।
  • मिटटी की गुणवत्ता बढ़ाने का कार्य करता है।
  • मृदा कीट और जीवाणुओं की वृद्धि को कम करता है।
  • सभी पौधों के विकास के लिए आवश्यक स्थूल पोषक तत्व प्रदान करता है।
  • दीर्घकाल में पौधों की उपज बढ़ाने में मदद करता है।
  • जैविक नष्ट होने योग्य और पर्यावरण के अनुकूल होता है।
  • उत्कृष्ट मिट्टी कंडीशनर।

Poonam Singh

Recent Posts

Leave a Comment

Contact Us

We're not around right now. But you can send us an email and we'll get back to you, asap.

Not readable? Change text. captcha txt

Start typing and press Enter to search